Random Access Memory

रेण्डम एक्सेस मेमोरी (Random Access Memory) जिसे संक्षिप्त में रैम (RAM) कहा जाता है यह मुख्य मेमोरी (प्राथमिक मेमोरी) का प्रकार है जो स्टोरेज डिवाइस के अंतर्गत आता है. रैम मेमोरी में चिप होता है, जो मैटल-ऑक्साइड सेमीकण्डक्टर (Metal oxide Semiconductor – MOS) से बना होती है. हम मेमोरी के किसी भी स्थान में डेटा या सूचना को संग्रहित कर सकते हैं और उस डेटा की आवश्यकता पड़ने पर उसका उपयोग भी कर सकते हैं.

रैम मेमोरी ऐसे रजिस्टरों और उनमें जुड़े हुए परिपथों (circuits) से बना होता है, जिनसे डेटा को वहाँ तक और वहाँ से स्थानांतरित किया जा सके. रैम में प्रत्येक स्थान (location) का निश्चित पता (address) होता है जिस पते से उस स्थान तक पहुँच सकें. रजिस्टरों या लोकेशन का प्रयोग हम कभी भी कर सकते हैं.

चूँकि रैम में प्रत्येक स्थान का एक निश्चित पता होता है, किंतु इस पते का उपयोग केवल सी. पी. यू. (C. P. U.) को यह बताने के लिए किया जाता है कि कोई सामग्री कहाँ रखी गयी है और कहाँ से सूचना प्राप्त करनी है.

रैम में उन सूचनाओं और प्रोग्रामों को रखा जाता है जिसे सी. पी. यू. (C. P. U.) खोज और प्राप्त कर सके. रैम में सूचनाओं को व्यवस्थित रखने और उन्हें शीघ्र उपयोग के लिए प्राप्त करने के लिए इसे अनेक अनुभागों (section) में विभाजित किया जाता है.

रैम में संग्रहित की जाने वाली सभी सूचनाएँ अस्थायी होती हैं. इसमें कोई सूचना तब तक संग्रहित रहती है जब तक पॉवर सप्लाई होती है. पॉवर सप्लाई के बंद होने पर इसमें संग्रहित समस्त सूचना अपने आप नष्ट हो जाती है.

Random Access Memory (RAM)
Image – Random Access Memory (RAM)

कड़ियाँ[प्रकार]:

गतिशील रेण्डम एक्सेस मेमोरी (DRAM)
स्थिर रेण्डम एक्सेस मेमोरी (SRAM)


कड़ियाँ[संबंधित]:

मुख्य मेमोरी (main memory)
प्राथमिक मेमोरी (Primary memory)
स्टोरेज डिवाइस (Storage devices)
चिप (Chip)
मैटल-ऑक्साइड (Metal-oxide)
सेमीकण्डक्टर (Semiconductor)
मैटल-ऑक्साइड सेमीकण्डक्टर (Metal-oxide Semiconductor)
सर्किट (Circuit)
बाइट पता (Byte address)
सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट (C. P. U.)
प्रोग्राम (Program)
पॉवर सप्लाई (Power supply)


wikiwhat.xyz

" हम समझते है कि, आपका और हमारा समय महत्वपूर्ण है। "

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *